Connect with us

Hindi Quotes

99+ Life-Changing Bhagavad Gita Quotes (भगवद गीता उपदेश)

Bhagavad Gita Quotes

आज हम आपके साथ शेयर करने वाले हैं 99+ Amazing Bhagavad Gita Quotes भगवान श्री कृष्ण द्वारा भगवद गीता में बहुत सारे ऐसे उपदेश दिए है जिनको पढ़ने के बाद आप जरूर Motivate होंगे और आपके जीवन जीने का तरीका बदल जाएगा। मैं खुद को Motivate करने के लिए इन्हीं भगवद गीता के Life Changing Quotes का सहारा लेता हूं।

इस महान ग्रंथ में भगवान श्री कृष्ण द्वारा आयोजन को दिए गए उपदेश है जब अर्जुन कुरुक्षेत्र में युद्ध के दौरान बहुत ही निराश हो गए थे तब भगवान Shri Krishna ने उन्हें यह उपदेश दिए थे।

अगर बात की जाए बड़े-बड़े Motivational Speakers की तो वह लोग भी Bhagvat Geeta के उपदेशों से प्रेरणा लेते हैं और फिर उसे घुमा फिरा कर हमारे जीवन से जोड़कर हमारे सामने पेश करते हैं। तो चलिए जानते हैं भगवत गीता के कर्म से जुड़े कुछ प्रमुख उपदेशों के बारे में।

Bhagavad Gita Quotes in Hindi (भगवद गीता उपदेश)

इतिहास कहता है कि कल सुख था, विज्ञान कहता है कि कल सुख होगा ,लेकिन धर्म कहता है कि अगर मन सच्चा दिन अच्छा हो तो हर रोज दुख होगा।

जब वेअपने कार्य में आनंद लेते हैं तब वे पूर्णता प्राप्त करते हैं।

जीवन ना तो भविष्य मे हैं, और ना ही अतीत में है जीवन तो केवल इस पल में है अर्थात इस पल का अनुभव ही जीवन है।

मेरा तेरा, छोटा बड़ा ,अपना पराया मन से मिटा दो फिर सब तुम्हारा है और तुम सबके हो।

आज जो कुछ आपका है, पहले किसी और का था ,और भविष्य में किसी और का हो जाएगा परिवर्तन ही संसार का नियम है।

जो हुआ वह अच्छे के लिए हुआ है ,जो हो रहा है वह भी अच्छे के लिए हो रहा है और जो होगा वह भी अच्छे के लिए ही होगा।

मेरे लिए न कोई घ्रणित है न कोई प्रिय , किन्तु जो व्यक्ति भक्ति के साथ मेरी पुजा करते है वह मेरे साथ है और मे भी उनके साथ हूँ ।

नरक के तीन द्वार है – वासना , क्रोध और लालच ।

तुम उसके लिए शोक करते हो शोक जो करने के योग्य नहीं है , और फिर भी ज्ञान की बात करते हो , बुद्धिमान व्यक्ति ना जीवित और ना ही म्रत व्यक्ति के लिए शोक करते है ।

केवल हमारा मन ही किसी का मित्रा और शत्रु होता है ।

मनुष्य अपने बिलवा से निर्मित होता है जैसा भी विश्वास करता है वैसा वह बच जाता है ।

अज्ञानी व्यक्ति स्वयं के लाभ के लिए कार्य करते है जबकि बुद्धिमान व्यक्ति सारे विश्व के कल्याण के लिए कार्य करते है ।

Motivational Bhagavad Gita Quotes

प्रथ्वी मे जिस प्रकार मौसम मे परिवर्तन आता है उसी प्रकार जीवन मे भी सुख -दुख आता जाता रहता है।

ज्ञान की भेंट करना किसी भी मूल्यवान सामाग्री को भेंट करने की अपेक्षा ज़्यादा उचित है ।

कर्म मुझे बांधता नहीं कयोकी मुझे कर्म के प्रतिफल की कोई इच्छा नहीं ।

जो मन को नियंत्रित नहीं करते , उनके लिए वह शत्रु के समान कार्य करता है ।

चींटी से लेकर हाथी और धरती के एक एक कण से लेकर अनंत ब्रह्मांड में – मैं हूं ।

व्यक्ति जो चाहे बन सकता है यदि वह विश्वास के साथ इच्छित वस्तु पर चिंतन करे।

अपने अनिवार्य कार्य करो ,क्योंकि वास्तव में कार्य करना निष्क्रियता से बेहतर।

सदैव संदेह करने वाले व्यक्ति के लिए प्रसन्नता नाइस लोक में और ना ही कहीं और।

मैं केवल भगवान का हूं और भगवान मेरे ऐसा मानने मात्र से भगवान से संबंध जुड़ जाता है।

फल की अभिलाषा छोड़कर कर्म करने वाला पुरुष ही अपने जीवन को सफल बनाता है।

सज्जन पुरुष अच्छा आचरण वाले सज्जन पुरुषों में ,नीच पुरुष नीच लोगों में ही रहना चाहते हैं । स्वभाव से पैदा हुई जिसकी जैसी प्रकृति है उस प्रकृति को कोई नहीं छोड़ता।

प्रत्येक कर्म को कर्तव्य मात्र समझकर करना चाहिए।

समय से पहले और भाग्य से अधिक किसी को कुछ नहीं मिलता।

Motivational Bhagavad Geeta Quotes in Hindi

जो होने वाला है वो होकर ही रहता है ,और जो नहीं होने वाला मैं कभी नहीं होता, ऐसा निश्चय जिनकी बुद्धि में होता है उन्हें चिंता कभी नहीं सताती।

देवी संप्रदा से संयुक्त पुरुष में भय का सर्वथा अभाव और सब के प्रति प्रेम का भाव होता है।

जो व्यवहार आपको दूसरों से पसंद ना हो ऐसा व्यवहार आप दूसरों के साथ कभी ना करें।

जब इंसान बेकार की इच्छाओं को त्याग कर देता है और मैं और मेरा की लालसा से मुक्त हो जाता है तब उसे शांति मिल जाती है।

मन बड़ा चंचल है, मनुष्य को मत डालता है अतः बहुत बलवान

जब -जब इस धरती पर पाप अहंकार और अधर्म बढ़ेगा तो उसका विनाश कर पुनः धर्म की स्थापना करने हेतु मैं अवश्य अवतार लेता रहूंगा।

अच्छे कर्म करने के बावजूद भी लोग केवल आपकी बुराइयां हीयाद रखेंगे ,इसलिए लोग क्या कहते हैं इस पर ध्यान मत दो अपने कार्य करते रहो।

मैं सभी प्राणियों के ह्रदय में विद्यमान हूं।

वह जो इस ज्ञान में विश्वास नहीं रखते, मुझे प्राप्त किए बिना जन्म और मृत्यु के चक्र का अनुगमन करते हैं।

मैं भूत वर्तमान और भविष्य के सभी प्राणियों को जानता हूं किंतु वास्तविकता में कोई मुझे नहीं जानता।

बुरे कर्म करने वाले सबसे नीच व्यक्ति ,जो राक्षसी प्रवृत्तियों से जुड़े हुए हैं ,और जिनके बुद्धि माया ने हर ली है वह मेरी पूजा या मुझे पाने का प्रयास नहीं करते।

ऐसा कुछ भी नहीं चेतन या अचेतन जो मेरे बिना अस्तित्व में रह सकता हो।

स्वर्ग प्राप्त करने और वहां कई वर्षों तक वास करने के पश्चात एक असफल योगी का पुनः एक पवित्र और समृद्धि कुटुंब में जन्म होता है।

जो कोई भी चीज किसी भी देवता की पूजा विश्वास के साथ करने की इच्छा रखता है मैं उसका विश्वास रथी देवता मित्रण कर देता हूं।

वह जो मृत्यु के समय मुझे स्मरण करते हुए अपना शरीर त्याग ता है ,वह मेरे धाम को प्राप्त होता है इसमें कोई संशय नहीं है।

आशा है आपको यह सभी Bhagavad Gita Quotes पसंद आए होंगे और इन्हे पढ़ कर आपको जरूर कुछ अच्छा सीखने को मिला होगा । आप चाहे तो इन Quotes को अपने दोस्तो के साथ Social Media पर Share कर सकते है। धन्यवाद !

। । जय श्री कृष्णा । ।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Trending